Home hindi kavita बाकी बच गया अण्डा (कविता ) – बाबा नागार्जुन

बाकी बच गया अण्डा (कविता ) – बाबा नागार्जुन

0
456
baki bach gaya anda by baba nagarjun

बाकी बच गया अण्डा 

प्रसिद्ध हिंदी कविता – बाबा नागार्जुन 

 

पाँच पूत भारतमाता के, दुश्मन था खूँखार
गोली खाकर एक मर गया, बाक़ी रह गए चार

चार पूत भारतमाता के, चारों चतुर-प्रवीन
देश-निकाला मिला एक को, बाक़ी रह गए तीन

तीन पूत भारतमाता के, लड़ने लग गए वो
अलग हो गया उधर एक, अब बाक़ी बच गए दो

दो बेटे भारतमाता के, छोड़ पुरानी टेक
चिपक गया है एक गद्दी से, बाक़ी बच गया एक

एक पूत भारतमाता का, कन्धे पर है झण्डा
पुलिस पकड कर जेल ले गई, बाकी बच गया अण्डा

NO COMMENTS

Leave a Reply