अखबार में सबसे नीचे बने चार रंगीन बिंदुओं का मतलब जानिये

0
48

 

हम रोजाना अपनी जिंदगी में कई ऐसी छोटी छोटी चीजो को बार बार देखते है जिसे हम नजरंदाज कर देते है . अख़बार तो रोज सभी अपने घरो में पढ़ते ही होंगे लेकिन शायद ही किसी ने अख़बार पढ़ते समय अख़बार पर बने चार रंगीन बिन्दुओ पर ध्यान दिया होगा | किसी ने ध्यान दिया भी होगा तो सोचा भी नहीं होगा की इसका भी कुछ मतलब होता होगा | तो दोस्तों आज हम इस पोस्ट में आपको बताएँगे की अख़बार पर बने इन बिन्दुओ का मतलब क्या होता है

रंगीन बिंदुओँ की लाइन का मतलब

हर अखबार में सबसे नीचे चार रंगों की बिंदुएं एक लाइन में बनी होती हैं. चार रंगों की बिंदुओं की ये लाइन किसी रोड ट्रैफिक की बिंदुओं की तरह नहीं होती हैं जिन्हें खबरों के बारे में कुछ बताना हो लेकिन आखिर इसका क्या मतलब होता है.

इंद्रधनुष में भी होता है रंगों का एक निश्चित क्रम

आपने इंद्रधनुष भी देखा ही होगा जिसमें सात रंग होते हैं और उनका एक निश्चित क्रम भी होता है . लेकिन अखबार के नीचे बने इन चार रंगों की लाइन का कुछ मतलब जरूर होता ही होगा.

मुख्य रंगों का होता है एक क्रम

आपने कहीं ना कहीं सुना या पढ़ा ही होगा कि रंग मुख्यत: तीन ही होते हैं जो लाल, पीला, नीला होते हैं. मुख्य रंगों का यही क्रम प्रिंटर में भी काम करता है और इसके साथ ही एक और रंग काला जुड़ जाता है.

प्रिंटर में भी रंगीन बिंदुओं का होता है एक क्रम

लाल, पीला, नीला और काला रंग अखबार में CMYK के क्रम में होते हैं. सबसे पहले C से Cyan जो कि नीला, M से Magenta जो कि गुलाबी रंग होता है और फिर इसके बाद पीला और गुलाबी रंग आता है. कोई भी इमेज प्रिंटर द्वारा प्रिंट किया जाता है तो वो इन्ही चारो रनों के निश्चित अनुपात में मिलाने से बनता है . अगर आप अख़बार में कोई इमेज देखते है और वह धुंधला या सही से नहीं दीखता है तो इसका कारण है की प्रिंटर के मुख्य रंग CMYK एक लाइन में प्रिंट नहीं हुए है .

प्रिंटिंग की क्वालिटी चेक करने के लिए होता है उपयोग 

रोज इतनी मात्रा में अख़बार छापते है की हर अख़बार की इमेज चेक करना आसान नहीं है इसलिए अख़बार छपने वाले अख़बार के निचे में इन चार रंगों के डॉट या रजिस्ट्रेशन मार्क छोड़ देते है जिससे उन्हें आसानी होती है की ये चारो रंग अख़बार में सही से एकदूसरे के ऊपर प्रिंट हुए है की नहीं .

बुक प्रिंटिंग में भी इसी तरह होती है 

यह विधि किताब छापते समय भी अपनाई जाती है लेकिन ये डॉट किताब की BINDING करते समय हटा दी जाती है . तो अगर अगली बार अख़बार पढ़ते समय आपको उस पर छपी फोटो साफ नहीं दिखे तो अख़बार के निचे छपे इन चार बिन्दुओ को जरुर देखे की वे एक लाइन में प्रिंट हुए है या नहीं .

Leave a Reply